आदिवासी अधिकारको लागि के के हुन् जटिलता ?